Thursday, February 22, 2024
Latest:
अपराधअम्बालाकरनालकुरुक्षेत्रकैथलखेलचंडीगढ़चरखी दादरीजिंददेश-विदेशपंचकुलापंजाबपानीपतमनोरंजनमहेंद्रगढ़यमुनानगरहरियाणा

भ्रष्ट पुलिस वालों को सबक सिखाने के लिए केंद्र सरकार ने एक अच्छी पहल की शुरुआत*

राणा ओबराय
राष्ट्रीय ख़ोज/भारतीय न्यूज,
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
भ्रष्ट पुलिस वालों को सबक सिखाने के लिए केंद्र सरकार ने एक अच्छी पहल की शुरुआत*
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,’
दिल्ली ;- भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों को लेकर केंद्र सरकार बड़ा कदम उठाने जा रही है। जानकारी के मुताबिक केंद्र सरकार अब भ्रष्ट पुलिसकर्मियों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर जारी करेगी। इतना ही नहीं भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों और पुलिस कर्मियों की फोटों उनके गुनाह के साथ थानों के नोटिस बोर्ड पर चस्पा करने की बात कही है। सरकार ने यह कदम ‘पुलिस छवि और सार्वजनिक संपर्क’ के तहत उठाया है। इन भ्रष्ट पुलिसकर्मी की फोटो अधिकार सोशल मीडिया पर भी शेयर करेंगे।
केंद्र सरकार ने निर्देश दिया है कि और कहा है कि भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों के खिलाफ की गई कार्रवाई का प्रचार सोशल मीडिया पर किया जाएगा। जिन घटनाओं में वे शामिल थे, उनकी डिटेल्स के साथ पुलिस स्टेशनों में भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों की तस्वीरें लगाई जाएंगी। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने निर्देश में कहा है कि भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही को सोशल मीडिया पर उचित प्रचार मिलेगा, जिन घटनाओं में वे शामिल थे उन विवरणों के साथ पुलिस थानों में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की तस्वीरें प्रदर्शित की जाएंगी। सूत्रों के अनुसार यह निर्णय सिर्फ निचले स्तर के पुलिसकर्मियों तक सीमित नहीं रहेगा, भ्रष्ट वरिष्ठ भारतीय पुलिस सेवा आईपीएस अधिकारियों की तस्वीरों को भी प्रमुखता से प्रदर्शित किया जाएगा।
सूत्रों के मुताबिक भ्रष्ट पुलिस कर्मियों को पकड़ने के लिए पुलिस वालों को अपनी आंतरिक सतर्कता इकाई को मजबूत करना होगा। एक वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी ने कहा कि जन शक्ति की कमी, कर्तव्य की थकान और कर्तव्य से भागना पुलिसकर्मियों के लिए भ्रष्टाचार को बढ़ावा देती हैं। सरकार ने सभी पुलिस प्रमुखों को सोशल मीडिया कंटेंट का विश्लेषण करने और पुलिस को लोंगो तक पहुंचने को बढ़ाने के लिए इन हाउस टीम बनाने के लिए कहा है। निर्देश में कहा गया है कि हिंदी और अंग्रेजी के साथ स्थानीय भाषा का उपयोग सोशल मीडिया पर अधिक से अधिक पहुंच के लिए, सामग्री के प्रसार के लिए किया जाए। यह भी कहा गया है कि पुलिस की दक्षता को बढ़ाने के लिए छोटे वर्दीधारी पुलिस फूट गश्ती दल का इस्तेमाल किया जाए और पुलिस की छवि को सुधारने के लिए इनकी तस्वीरें और वीडियो का प्रसार किया जाए। निर्देश में कहा गया है कि पुलिस की संवेदनशीलता दिखाने वाले वीडियो और तस्वीरों को व्यापक रूप से सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर साझा किया जाना चाहिए।
भ्रष्ट पुलिसकर्मियों पर लगाम लगाने लिए पुलिस बलों को अपनी आंतरिक सतर्कता इकाई को भी मजबूत करना होगा। हाल के दिनों देश की पुलिसिया तंत्र पर कई तरह का सवाल उठता रहा है। अपराधी और पुलिस की मिली भगत के कई तरह के आरोप लगते रहे हैं। अब जब सरकार ने भ्रष्ट पुलिसकर्मी को लेकर नया फरमान जारी किया है तो शायद इससे पुलिसिया तंत्र को मजबूत किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!