Saturday, June 15, 2024
Latest:
चंडीगढ़देश-विदेशराज्यहरियाणा

हरियाणा के जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी मंत्री डॉ बनवारी लाल ने आज सिंगापुर में चंगी जल पुर्नवास संयंत्र और पीयूबी (राष्ट्रीय जल एजेंसी) के स्वामित्व और संचालन वाले जुरोंग जल पुनर्वास संयंत्र का किया दौरा*

राणा ओबराय
राष्ट्रीय खोज/भारतीय न्यूज़,
,,,,,,,,

हरियाणा के जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी मंत्री डॉ बनवारी लाल ने आज सिंगापुर में चंगी जल पुर्नवास संयंत्र और पीयूबी (राष्ट्रीय जल एजेंसी) के स्वामित्व और संचालन वाले जुरोंग जल पुनर्वास संयंत्र का किया दौरा*
,,,,,,,,,,,,,,,,,
चंडीगढ़ ;- हरियाणा के जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी मंत्री डॉ बनवारी लाल ने आज सिंगापुर में चंगी जल पुर्नवास संयंत्र और पीयूबी (राष्ट्रीय जल एजेंसी) के स्वामित्व और संचालन वाले जुरोंग जल पुनर्वास संयंत्र का दौरा किया। इस मौके पर उनके साथ राज्य की ओर से गए हुए प्रतिनिधिमण्डल में हिसार के विधायक डॉ. कमल गुप्ता, जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री राजीव अरोड़ा, विशेष सचिव, पंकज चौधरी और विभाग के इंजीनियर-इन-चीफ श्री मनपाल सिंह सहित अन्य अधिकारी भी शामिल है।
इन जल पुर्नवास संयंत्रों के दौरे के दौरान पीयूबी के अधिकारियों ने उनकी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों की जानकारी दी और बताया कि सिंगापुर में अपशिष्ट जल का पुन: उपयोग किया जाता है और इस अपषिष्ट जल को सिंगापुर सरकार द्वारा इस संयंत्र में गहरी सुरंगों के माध्यम से पहुंचाया जाता है तथा ट्रीटमेंट के उपरांत यह पानी उद्योग या घरों को आपूर्ति के लिए भेजा जाता है।
इन दौरों के दौरान जल के उपयोगों के बारे में इन संयंत्रों के अधिकारियों ने बताया कि पीयूबी (राष्ट्रीय जल एजेंसी) के स्वामित्व और संचालन के साथ जुरोंग जल पुनर्वास संयंत्र सिंगापुर में चार जल पुनर्वास संयंत्रों में से एक है। प्रतिनिधिमंडल ने इस संयंत्र के तकनीकी विवरणों की जानकारी ली और अध्ययन किया और इस मौके पर सिंगापुर में अधिकारियों के साथ उपयोगी चर्चा भी की गई। इस संयंत्र में बेस्ट कचरे को एक प्रक्रिया के माध्यम से गुजारा जाता है और यह प्रक्रिया इस कचरे के नष्ट कर देती हैं जिसे बाद में बने उत्पाद को इन-ट्यूब कूलर के माध्यम से गुजारा जात है और फिर इसे आगे एनारोबिक में भेजा जाता है। मंत्री ने बताया कि इन संयंत्रों के दौरे से प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों को काफी जानकारी मिली हैं और इन संयंत्रों की तकनीक का लाभ प्रदेश में कचरा निस्तारण में भी हो सकता है।
गौरतलब हैं कि हरियाणा के जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी मंत्री डॉ. बनवारी लाल सिंगापुर इंटरनेशनल वाटर वीक-2018 में हरियाणा से गए हुए प्रतिनिधिमण्डल की अगुवाई कर रहे है। इस कार्यक्रम के दौरान ही प्रतिनिधिमंडल ने सिंगापुर में अपनाई जा रहे तकनीक व संयंत्रों का दौरा किया हैं जो काफी फलदायक साबित होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!