Thursday, January 18, 2024
Latest:
कैथलचंडीगढ़हरियाणा

कैथल के जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग में लाखों रुपये के सीआई पाइप के घोटाले का मामला आया सामने!

राणा ओबराय
राष्ट्रीय खोज/भारतीय न्यूज़,
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
कैथल के जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग में लाखों रुपये के सीआई पाइप के घोटाले का मामला आया सामने!
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
कैथल ;- जन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के सुर भी आपस में मिलान नहीं खा रहे हैं. जो एसई पाइप दिया गया है, जेई उसकी कीमत 1.50 लाख रुपये बता रहे हैं वहीं एसडीओ 2 लाख रुपये लेकिन विभाग के उच्च अधिकारियों को 1 लाख 22 हजार कीमत के पाइपों का ब्यौरा भेजा गया है. कैथल के जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग में लाखों रुपये के सीआई पाइप के गोलमाल का मामला सामने आया है. आरोप है कि विभाग के एक जेई द्वारा लाखों रुपये के सीआई पाइप बिना विभागीय प्रक्रिया के स्टोर से निकाल कर अवैध रूप से ठेकेदार को दे दिए गए. हालांकि जेई ने कहा है कि उन्हें उच्च अधिकारी ने स्टोर से पाइप निकाल कर ठेकेदार को देने के लिए आदेश दिया था और उन्होंने विभाग की प्रक्रिया के तहत ही पाइप ठेकेदार को दिए थे, उन्होंने गेट पास भी काटा था जो 18/2/2019 की तारीख में काटा गया है हालांकि इंडेंट नहीं कटा था. पहले भी इसी प्रक्रिया के तहत स्टोर से सामान जाता रहा है. जेई ने कहा कि उनके खिलाफ साजिश की जा रही है. वहीं विभाग के एसई व एसडीओ के सुर भी आपस में मिलान नहीं खा रहे हैं. जो एसई पाइप दिया गया है, जेई उसकी कीमत 1.50 लाख रुपये बता रहे हैं वहीं एसडीओ 2 लाख रुपये लेकिन विभाग के उच्च अधिकारियों को 1 लाख 22 हजार रुपये कीमत के पाइपों का ब्यौरा भेजा गया है. यहां पर पाइप दिए जाने की तारीख भी 19/2/2019 बताई जा रही है जबकि पाइप 18 फरवरी को दिए गए और गेट पास काटा गया.
सारा मामला मीडिया में आने के बाद विभाग के एसई ने इसकी रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को दी है. उसमें कहा है कि उच्च अधिकारी ही इसका फैसला करेंगे. मामला चाहे आपसी खींचतान का हो या कुछ और, यह तो जांच के बाद ही पता चल पाएगा कि आखिर स्टोर से पाइप किसकी शह पर निकाल कर ठेकेदार को दिए गए. आपसी खींचतान में एसई ओर एसडीओ के बयान विभाग के रिकॉर्ड से मेल नहीं खा रहे हैं. इस पूरे मामले में लाखों रूपये का गोलमोल पहले भी होता रहा है!ऐसी विभाग में चर्चा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!