Thursday, December 21, 2023
Latest:
चंडीगढ़हरियाणा

पार्षद के पति ने कमिश्नर के साथ फोन पर की बदसलूकी कमिश्नर ने भी दिया करारा जवाब*

राणा ओबराय
राष्ट्रीय खोज/भारतीय न्यूज़,
,,,,,,,,,,,,,,,,,
पार्षद के पति ने कमिश्नर के साथ फोन पर की बदसलूकी कमिश्नर ने भी दिया करारा जवाब*
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
चंडीगढ़ :- शुक्रवार को नगर निगम की कार्यकारिणी की 264वीं बैठक संपन्न हुई। इस बैठक की शुरूआत उस समय गंभीर हो गई जब कमिश्नर के. के. यादव ने वार्ड नंबर 12 से पार्षद चंद्रावती शुक्ला पर यह आरोप लगाया कि उनके पती ने उनके साथ बत्तमीजी की व धमकी दी। कमिश्नर ने बैठक में पहले इशारे में कहा कि किसी पार्षद के पती ने उन्हें धमकी दी है तथा वह उसका नाम नहीं लेना चाहते इस पर पार्षद दविंद्र सिंह बबला बिफर गए तथा कहा कि कमिश्नर को खुल कर इस बारे में बात करनी चाहिए तथा जिसने उन्हें धमकी दी है उसका नाम सबके सामने लाना चाहिए।
कमिश्नर बोले- दोबारा बर्दाश्त नहीं करूंगा……
इसके बाद कमिश्नर ने खुल के कहा कि उनके फोन पर चंद्रावती शुक्ला का फोन आया था जब उन्होंने फोन उठाया तो कॉल पर दूसरी तरफ चंद्रावती शुक्ला के पती ने फोन उठाया तथा कहा कि उनकी हिम्मत कैसे हुई की वह उनके इलाके में दाखिल हुए। जिसके जवाब में कमिश्नर ने पार्षद को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि इस बार तो वह इस बत्तमीजी को बर्दश्त कर रहे हैं पर अगली पर से एैसा कुछ हुआ तो वह उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे। जिसके जवाब में पार्षद चंद्रावती ने कहा कि उन्होंने 3 बार कॉल की तब भी कमिश्नर ने उनका फोन नहीं उठाया, इस पर कमिश्नर ने कहा कि वह मीटिंग में थे इसी वजह से फोन नहीं उठा पाए। इसके अलावा बैठक में मौली जागरा के सीवरेज सिस्टम को मजबूत करने काभी फैसला लिया गया है। गौरतलब है कि मौली जागरा सीवेज पाइप के लीक होने की वजह से पीने का पानी दूषित हो रहा है। हालांकि अभी इसका खर्च किस तरह से किया जाएगा यह विचारीधीन है तथा उम्मीद की जा रही है की इसका कुछ हिस्सा घर के मालिक से वसूल किया जाएगा। साथ ही सीवरेज पाइपों को अगर घर के पीछे लगाया जाता है तो हर घर का कुछ हिस्सा तोडऩा पड़ेगा जिसके लिए प्रशासन को सभी घर के मालिकों से बात करनी होगी, गौर फरमाने लायक बात है कि इससे पहले भी वह सेक्टर 19 में इसी रणनीति से सीवरेज पाइप को ठीक करने में सफल रहे हैं।
साथ ही इस मौके पर 3 कॉमयुनिटी सेंटर सेक्टर 20, रामदरबार तथा ठाकुर द्वारा मनीमाजरा के कॉंमयुनिटी सेंटर को धवस्त करने का भी प्रस्ताव रखा गया है। जिसपर पार्षदों ने सुझाव दिया कि सभी को धवस्त करने कि आव्यश्यकता नहीं है कुछ को सिर्फ मरम्मत की जरूरत है। साथ ही पार्षद दविंद्र सिह बबला ने कहा कि सभी कॉम्युनिटी सेंटर सेक्टर 41 की तर्ज पर सभी को साउंड प्रूफ कर देना चाहिए ताकी आसपास के रिहाइशी इलाकों में इसकी आवाज ना जा सके जिसपर कमिश्नर ने आश्वासन दिया कि वह इस दिशा में जरूर कदम उठाएंगे। निगम को फिजूल खर्ची से बचना चाहिए : पार्षद
पार्षदों ने एक आवाज मे कहा कि अगर कोई कॉमयुनटी सेंटर सिर्फ रेनोवेशन से ही काम चल सकता है तथा फिजूल खर्ची से निगम को बचना चाहिए। इसके जवाब में कमिश्नर के.के. यादव ने कहा कि अगर एैसा है तो वह सवयं तीनों का अगले हफ्ते मुआयना करेगें तथा उसके बाद ही इस मामले में कोई फैसला लेंगे। इसके आलावा पार्षदों में इस बात को लेकर भ्रम था कि जो 50 करोड़ रूपये सरकार की तरफ से जारी किए गए वह कॉमयुनिटी सेंटर व सड़क दोनों पर खर्च किया जाएगा। अटकलों पर विराम लगाते हुए कमिश्नर ने कहा कि यह रकम सिर्फ सड़क निर्माण के कार्य में इस्तेमाल की जायेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!