Monday, May 20, 2024
Latest:
करनालचंडीगढ़जिंददेश-विदेशपंचकुलापंजाबपानीपतराजस्थानहरियाणाहिमाचल प्रदेश

हरियाणा परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा व महानिदेशक वीरेंद्र दहिया के अथक प्रयास से दिल्ली सहित 6 राज्यों में जा सकेगी हरियाणा की बस*

राणा ओबराय
राष्ट्रीय ख़ोज/भारतीय न्यूज,
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
हरियाणा परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा व महानिदेशक वीरेंद्र दहिया के अथक प्रयास से दिल्ली सहित 6 राज्यों में जा सकेगी हरियाणा की बस*
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
चंडीगढ ;- हरियाणा के अन्य स्थानों से लेकर पंजाब, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, चंडीगढ़ और हिमाचल प्रदेश से लेकर दिल्ली जाने वाले यात्रियों के लिए हम लाए है राहत की ख़बर। बात आखिर ये है कि दिल्ली आईएसबीटी (अंतरराज्जीय बस अड्डा) के लिए मंगलवार से रोडवेज बसों का संचालन शुरू हो चुका है। साथ ही इन 6 राज्यों में बसें रवाना होने के लिए भी तैयार है। गौरतलब है कि कोरोना के कारण 24 मार्च को लॉकडाउन होने के बाद से दिल्ली के लिए रोडवेज बस सेवा बंद की गई थी।
वहीं अब दिल्ली सरकार ने बस संचालन को मंजूरी देने से पहले अपनी चार आंतरिक समितियों से बैठक कर विचार विमर्श किया। उसके बाद जाकर सोमवार रात राज्यों को बस संचालन शुरू करने की जानकारी साझा की। जिसके बाद हरियाणा रोडवेज ने मंगलवार से दस फीसदी बसों को दिल्ली की ओर रवाना होने के लिए शुरू कर दिया। वहीं वॉल्वो के संचालन को शुरू करने को लेकर अभी बातचीत चल रही है। सूत्रों की मानें तो दिल्ली सरकार ने प्रदूषण न फैलाने वाली बसों के प्रवेश की ही अनुमति दी है। जिसके तहत 2015 के बाद रोडवेज बेड़े में शामिल हुईं बसों को ही फिलहाल दिल्ली सीमा में प्रवेश करने की अनुमति मिली है।
आपको बता दें कि हालिया दौर में दिल्ली अत्याधिक प्रदूषण की मार झेल रही है। जिसके चलते नई बसों को ही सरकार ने अपनी सीमा में प्रवेश की अनुमति प्रदान की है। अभी करीब दो महीने से रोडवेज बसें कुंडली सीमा तक ही पहुंच रही थीं। जिसको लेकर हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा व रोडवेज महानिदेशक वीरेंद्र दहिया दिल्ली बस अड्डा तक बस संचालन शुरू कराने को लेकर केजरीवाल सरकार के संपर्क में थे। चूंकि अब उन्हें इसमें सफलता मिल गई है। वैसे देखा जाए तो त्योहारों इस सीजन में दिल्ली तक बस सेवा शुरू होना लोगों के लिए वाकई बड़ी खुशी की बात है। अभी लोग दिल्ली सीमा तक बस में व उससे आगे टैक्सी व ऑटो में जाने के मजबूर थे, जिसका असर सीधा उनकी जेब पर पड़ रहा था। जानकारी दें दें कि हरियाणा रोडवेज के जिलों के डिपो से चार-पांच तो चंडीगढ़ से दिल्ली के लिए अधिक बसें चलाई गई हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!