Thursday, May 16, 2024
Latest:
अपराधगुड़गाँवचंडीगढ़देश-विदेशपंचकुलाफरीदाबादमहेंद्रगढ़रेवाड़ीहरियाणा

पटौदी विधायक के पीएसओ पर पार्षद को थप्पड़ मारने और मतदान केंद्र से बाहर निकालने का लगा आरोप*

राणा ओबराय
राष्ट्रीय खोज/भारतीय न्यूज़,
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
पटौदी विधायक के पीएसओ पर पार्षद को थप्पड़ मारने और मतदान केंद्र से बाहर निकालने का लगा आरोप*
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
गुरुग्राम ;- गुरुग्राम में रविवार को लोकसभा चुनाव के दौरान पटौदी विधायक बिमला चौधरी व फर्रूखनगर के वार्ड आठ से पार्षद जसवंत सिंह के बीच मतदाताओं को लुभाने के मामले को लेकर जुबानी जंग हो गई। विधायक के सुरक्षाकर्मी ने पार्षद को चार-पांच थप्पड़ जड़ दिए और धक्केमार कर मतदान केंद्र से बाहर निकाल दिया। बतां दे कि रविवार को हुए लोकसभा चुनाव के दौरान पटौदी की विधायक बिमला चौधरी अपने सर्मथकों के साथ अपनी ससुराल फर्रूखनगर में मतदान करने पहुंची थी। मतदान के बाद विधायक बिमला चौधरी अन्य बूथों का जायजा लेते हुए दोपहर के समय राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय पहुंची तो वहां पहले से ही मौजूद पार्षद जसवंत सिंह लोगों को पार्टी विशेष के पक्ष में मतदान करने के लिए कह रहे थे।
एमएलए बिमला चौधरी को यह नागवरा लगा और उन्होंने पार्षद को एेसा करने से रोका और इसी बात को लेकर दोनों के बीच वाकयुद्ध शुरु हो गया। आरोपानुसार इससे पहले की मामला और बढ़ता विधायक के सुरक्षाकर्मी ने पार्षद के चार-पांच थप्पड़ जड़ दिये। इतना ही नहीं धक्का मार कर स्कूल के मुख्य द्वार के बहार कर दिया था। झगड़े के बाद विधायक बिमला चौधरी मौके से चली गई। पार्षद के साथ हुई मारपीट से मतदान करने पहुंचे मतदाता और स्थानीय लोग हैरान रह गये कि आखिर विधायक के सुरक्षाकर्मी को दबंगई क्यों दिखानी पड़ी। मतदान के दूसरे दिन भी विधायक के खिलाफ स्थानीय पार्षद व पार्षद के सर्मथक लाम्बंद होने लगे है। गौर तलब है कि चुनाव के दौरान प्रचार करने सहित जनसमर्थन जुटाने के लिए कांग्रेस उम्मीदवार कैप्टन यादव, पटौदी की एमएलए बिमला चौधरी की ससुराल और सूबे के पीडब्ल्यूडी मंत्री राव नरबीर के निर्वाचन क्षेत्र फर्रूखनगर भी पहुंचे थे। यहां आने पर पालिका के पूर्व पार्षदों सहित अन्य जन प्रतिनिधियों ने कैप्टन यादव सहित कांग्रेस को अपना समर्थन देने की घोषणा करके चौकाने वाला काम किया था। अब ताजा घटनाक्रम को देखते हुए इस बात से भी इंकार नहीं किया जा सकता कि, फर्रूखनगर पालिका पार्षदों व उनके समर्थकों में एमएलए बिमला के प्रति तल्खी और भी बढ़ सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!