Sunday, January 14, 2024
Latest:
उत्तर प्रदेशकरनालखेलगुजरातचंडीगढ़जिंददेश-विदेशपंचकुलापंजाबपानीपतहरियाणा

प्रियंका गांधी ने बनारस से लोकसभा चुनाव ना लड़ने का खोला राज*

राणा ओबराय
राष्ट्रीय खोज/भारतीय न्यूज़,
,,,,,,,,,,,,,,,,,,
प्रियंका गांधी ने बनारस से लोकसभा चुनाव ना लड़ने का खोला राज*
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
नई दिल्ली :- कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने पहली बार वाराणसी लोकसभा सीट से चुनाव नहीं लड़ने को लेकर बयान दिया है। रविवार को उन्होंने एक बातचीत में कहा कि मेरे कंधों पर पूरे यूपी में प्रचार की जिम्मेदारी है। मेरे ऊपर एक नहीं, 41 सीटों पर पार्टी को जिताने का जिम्मा है। एक स्थान पर सीमित रहकर मेरे लिए ऐसा करना संभव नहीं था।
बता दें कि 28 मार्च को रायबरेली में कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी के लिए प्रचार करने पहुंचीं प्रियंका गांधी से जब कार्यकर्ताओं ने चुनाव लड़ने की मांग की तो उन्होंने पलटकर कार्यकर्ताओं से ही पूछ लिया कि वाराणसी से चुनाव लड़ूं क्या? प्रियंका गांधी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच पूरी बातचीत अनौपचारिक तौर पर थी। प्रियंका के इस बयान के बाद राजनीतिक गलियारे में इस बात की चर्चा होने लगी थी कि प्रियंका वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ सकती हैं। इस बात को और बल तब मिला था जब कांग्रेस प्रवक्ता और एमएलसी दीपक सिंह ने भी दावा किया था कि प्रियंका गांधी का वाराणसी से चुनाव लड़ना लगभग तय है। दीपक सिंह ने कहा था कि प्रियंका ने वाराणसी से चुनाव लड़ने का मन बना लिया है। एक-दो दिन में बनारस से नामांकन करने के प्रक्रिया शुरू की जाएगी, लेकिन इन चर्चाओं के बीच प्रियंका लगातार कहती रहीं कि वह वाराणसी से पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं, लेकिन बस पार्टी की हां का इंतजार है। प्रियंका के वाराणसी से चुनाव लड़ने को लेकर उनके पति रॉबर्ट वाड्रा ने भी कहा था कि प्रियंका गांधी वाराणसी से चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं। उन्हें अब बस पार्टी की हां का इंतजार है। बता दें कि वाराणसी लोकसभा सीट देश की सबसे वीवीआईपी सीटों में से एक है। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2014 में इसी सीट से जीतकर संसद पहुंचे थे और 2019 में एक बार फिर वह इस सीट से किस्मत आजमा रहे हैं। प्रियंका के वाराणसी से चुनाव लड़ने की चर्चाओं पर विराम 25 अप्रैल को लगा जब कांग्रेस ने अजय राय को यहां से टिकट दिया। कांग्रेस ने इससे पहले 2014 में भी अजय राय को प्रत्याशी बनाया था, लेकिन वो अपनी जमानत भी नहीं बचा सके थे। कांग्रेस नेता सैम पित्रोदा ने प्रियंका गांधी के वाराणसी से पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव नहीं लड़ने की वजह साफ की थी। उन्होंने कहा कि वाराणसी से चुनाव नहीं लड़ने का फैसला खुद प्रियंका गांधी का था। प्रियंका गांधी के चुनाव नहीं लड़ने के निर्णय के संबंध में जब पत्रकारों ने पूछा तो पित्रोदा ने बताया कि पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने चुनाव लड़ने का अंतिम फैसला उनके प्रियंका गांधी के ऊपर छोड़ दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!