Saturday, January 20, 2024
Latest:
करनालचंडीगढ़जिंददेश-विदेशपंचकुलापंजाबपानीपतहरियाणा

हरियाणा सरकार ने कोरोना की रोकथाम के लिए उठाए कड़े कदम*

राणा ओबराय
राष्ट्रीय ख़ोज/भारतीय न्यूज,
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
हरियाणा सरकार ने कोरोना की रोकथाम के लिए उठाए कड़े कदम*
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,
चंडीगढ ;- देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुख्यमंत्रियों की बैठक के बाद हरियाणा सरकार ने कड़े और बड़े कदम उठाए है। सरकार की तरफ से एक जगह पर 200 से ज्यादा लोगों की भीड़ इक्कट्ठा करने पर अनुमति लेनी होगी। वहीं राष्ट्रीय राजधानी से सटे छह जिलों गुरुग्राम, फरीदाबाद, सोनीपत, रोहतक, पलवल और नूंह में किसी समारोह या कार्यक्रम में 50 से ज्यादा लोग इक्कट्ठे नहीं हो सकते। हरियाणा के मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी से सटे छह जिलों में कार्यक्रमों में 50 लोगों के एकत्रित होने की छूट रहेगी वहीं दूसरे जिलों में 100 लोग कार्यक्रम में शामिल हो सकते हैं। इसके अलावा खुले स्थानों पर 200 लोग किसी कार्यक्रम में अनुमति के बाद शामिल हो सकते हैं। बता दें कि अभी तक राज्य के हर जिले में 200 आदमी एक साथ इकट्ठा हो सकते थे। हरियाणा में कोरोना के हर रोज करीब दो हजार केस आ रहे हैं। इससे सरकार खासी चिंतित है। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने मीडिया कर्मियों से बातचीत के दौरान सरकार के इस नए फैसले की जानकारी दी है।
उन्होंने बताया कि राज्य में कल से शादियां शुरू होने वाली हैं। शादियों में कोरोना बम फूटने की आशंका से इन्कार नहीं किया जा सकता था, लेकिन अब भीड़ की संख्या कम कर दिए जाने के बाद राहत मिल सकती है, हालांकि जिन परिवारों में शादियां हैं और जिन्होंने 200 लोगों को बुलाने की मंशा से कार्ड बांट रखे हैं, उन्हें आर्थिक व पारिवारिक हर तरह की दिक्कत आ सकती है।
मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रधानमंत्री को जानकारी दी कि हरियाणा सरकार अपने राज्य में करीब एक करोड़ मास्क बंटवाने जा रही है। मास्क का आर्डर दिया जा चुका है। हर व्यक्ति के लिए मास्क पहनना अनिवार्य है। हालांकि सरकार मास्क नहीं पहनने वालों पर दो हजार रुपये जुर्माना कर सकती है, लेकिन सरकार की मंशा जुर्माना लगाकर लोगों को सचेत करने की बजाय उन्हें जागरूक बनाने पर है, ताकि वह स्वयं आगे बढ़कर सहयोग कर सकें। मास्क नहीं पहनने वालों के चालान काटे गए। उनसे करीब 25 करोड़ रुपये की राशि आई, लेकिन चालान काटकर धन इकट्ठा करना हमारा मकसद नहीं है। हम लोगों को जागरूक करना चाहते हैं।
सीएम मनोहरलाल ने बताया कि पूरे देश में कोरोना वैक्सीन के ट्रायल का तीसरा चरण चल रहा है। सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को कोरोना वैक्सीन दी जाएगी, क्योंकि वह सबसे ज्यादा रिस्क जोन में हैं। उन्हें लोगों के स्वास्थ्य की चिंता है और वह उनके हित में तथा उन्हें स्वस्थ बनाए रखने के लिए काम कर रहे हैं। मनोहर लाल ने स्पष्ट किया कि इसके बाद लोगों को उनकी आयु के हिसाब से दवाई मिलेगी। हर आदमी तक कोरोना वैक्सीन पहुंचे, प्रदेश सरकार इसका खाका तैयार करने में लगी है। हालांकि सीएम ने किया कि नाइट कर्फ्यू लगाने का अभी कोई फायदा नहीं है। क्योंकि रात को लोग ज्यादा इक्कट्ठे नहीं होते हैं। भीड़ हमेशा दिन में ही रहती है। इसलिए दिन में भीड़ से निपटने के लिए सख्ती से आदेश दिये हैं। वहीं दो गज की दूरी सबसे ज्यादा जरुरी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!